यूपी: असदुद्दीन ओवैसी पर हम’ला करने वाले दोनों आरोपियों पर कोर्ट ने सुनाया ये फैसला

एआईएमआईएम चीफ और लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी की का’र पर फा’यरिंग करने वाले दो’नों आ’रोपियों को 14 दिन की न्या’यिक हिरा’सत में भेज दिया गया है. इन दोनों आरोपियों को पूछता’छ के बाद कोर्ट में पेश किया गया था, जिसके बाद कोर्ट ने दोनों को जेल भेजने का फैसला सुनाया.

पुलिस ने बताया क्यों हुआ था हम’ला

हापुड़ के एसपी दीपक भुकेर की तरफ से ये जानकारी दी गई है. हालांकि इससे पहले पुलिस दोनों से पूछताछ पूरी कर चुकी थी. यूपी एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया था कि, पूछताछ के बाद जो जानकारी सामने आई है, उसके हिसाब से ये लड़के असदुद्दीन ओवैसी के एक ध’र्म वि’शेष के प्रति भा’षण देने की शै’ली से आ’हत थे.

इन दोनों ने बताया है कि उन्होंने इसी वजह से इस घ’टना को अंजाम दिया. उन्होंने ये भी बताया कि घटना में इस्ते’माल होने वाला ह’थियार और का’र बरा’मद कर ली गई है.

टोल प्लाजा पर हुई थी घटना

बता दें कि 3 फरवरी की शाम को असदुद्दीन ओवैसी की कार पर अचा’नक दो युवकों ने आकर गो’लियां चला’नी शुरू कर दीं. हालां’कि इसमें ओवैसी को किसी तरह की चो’ट नहीं आई. ओवैसी मेरठ इलाके में अपनी चुनावी यात्रा से लौट रहे थे.

इसी दौरान टोल प्लाजा पर ये घटना हुई. घटना की जानकारी खुद ओवैसी ने ट्विटर के जरिए दी. बताया गया कि पहले हम’ला’वर को ओवैसी की कार चलाने वाले ने टक्कर मा’रक’र गिरा दिया था, जिसे पुलिस ने मौके पर पहुंचकर गिरफ्ता’र किया. वहीं दूसरे आरो’पी ने गाजियाबाद के एक थाने पहुंचकर सरेंडर किया था.

ओवैसी को केंद्र की तरफ से सुरक्षा

ओवैसी ने इस घटना के बाद आ’रोप लगाया था कि, ये एक बड़ी सा’जिश हो सकती है. ये लोग अकेले इतनी बड़ी घटना को अंजाम नहीं दे सकते, इसके पीछे बड़ी ता’कतें हो सकती हैं.

ओवैसी ने इस दौरान हरिद्वार और अन्य जगहों पर हुई ध’र्म सं’सद का भी जिक्र किया. बता दें कि केंद्र सरकार की तरफ से ओवैसी को Z कैटेगरी की सुरक्षा देने की बात कही गई है. हालांकि ओवैसी ने हम’ले के बाद सु’रक्षा लेने से साफ इनकार किया था.