कैसे हुआ था विकास दुबे की गाड़ी का हा’दसा, एसटीएफ ने किया ये खुला’सा

कानपुर के बिकरू गांव में सीओ समेत 8 पुलि’स वा’लों की ह’त्या करने वाला गैं’गस्टर विका’स दुबे शुक्रवार सुबह एनकाउं’टर में मा’रा गया। यूपी एसटी’एफ की टीम उसे उज्जैन से कानपुर ले जा रही थी, लेकिन शहर से 17 किमी पहले सचेंडी थाना क्षेत्र में सुबह 6:30 बजे काफिले की एक गा’ड़ी प’लट गई। विकास उसी में बैठा था।

एसटीएफ ने शाम को प्रेस नोट जारी कर बताया कि मवेशियों के सामने आने से गाड़ी पलटी थी। एसटीएफ के मुताबिक इस दौरान विकास पिस्ट’ल छी’नकर भाग निकला। जब उसे पकड़ने की कोशिश की गई तो उसने फा’यर कर दिया। जवाबी का’र्रवाई में वह ज’ख्मी हो गया। तीन गो’लियां उसकी छा’ती में और एक बां’ह में लगी।

विकास को अस्पताल ले जाया गया। जहां उसे सुबह 7 बजकर 55 मिनट पर मृ’त घो’षित कर दिया। विकास को गुरुवार को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्ता’र किया गया था।

मौ’त के बाद उसका कोरो’ना जां’च के लिए सैम्पल लिया गया था, जिसकी रिपोर्ट निगे’टिव आई है। उधर, कानपुर के एलएलआर हॉस्पिटल के डॉक्टर आरबी कमल ने बताया कि ज’ख्मी तीन पुलि’सकर्मियों की हा’लत स्थिर है।

एसटी’एफ ने शाम को बताई पूरी कहानी

एसटीएफ ने शुक्रवार शाम प्रेस नोट जारी कर बताया कि रास्ते में गाय-भैसों का झुंड सामने आ गया। ड्राइवर ने मवेशियों को बचा’ने के लिए अचा’नक गा’ड़ी मोड़ दी, जिससे वह पल’ट गई।

इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी, सब इंस्पेक्टर पंकज सिंह, अनूप सिंह और सिपाही सत्य’वीर और प्रदीप को चोटें आईं और वे बेहो’शी की हालत में पहुंच गए। इस दौरान विकास ने इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी की पिस्ट’ल छी’न ली और कच्चे रा’स्ते पर भा’गने लगा।

पीछे से दूसरे वाहन से आ रहे एसटी’एफ के डीएसपी तेजबहादुर सिंह पल’टी गाड़ी के पास पहुंचे तो उन्हें विकास के भा’गने की खबर मिली। उन्होंने और साथी पुलि’सवालों ने उसका पीछा किया तो विकास फा’यर करने लगा।

उसे जिं’दा पकड़ने की पूरी कोशिश की गई, लेकिन वह फा’यर करता रहा। जवा’बी फा’यर में विका’स घा’यल हो गया। उसे तुरंत सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसको मृ’त घो’षित कर दिया गया।

यूपी पुलिस ने कहा- हमने बचा’व में गो’ली चला’ई

एडीजी (लॉ एंड ऑ’र्डर) प्रशांत कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में एनकाउं’टर के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गाड़ी पल’टने के बाद विकास ने भा’गने की कोशिश की। हमने विकास से सरेंड’र के लिए कहा, लेकिन उसने फा’यरिंग कर दी। पुलि’स को बचा’व में गो’ली चला’नी पड़ी। फिलहाल, हमें उसकी गैं’ग के 12 वॉ’न्टेड अपरा’धियों की तला’श है।