लाइव डिबेट सपा प्रवक्ता का BJP पर हमला बोले- “जिसने पहली बार हिन्दू आतंकवाद का जिक्र किया था, उसे बीजेपी ने सांसद बना दिया…”

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सूबे का सियासी पारा चढ़ा हुआ है। राजनीतिक दलों के नेताओं की तरफ से बयानबाजी का दौर जारी है। विभिन्न मुद्दों को लेकर हर कोई एक-दूसरे को घेरने की कोशिश में जुटा हुआ है।

वहीं, एक टीवी डिबेट में हेट स्पीच को लेकर बहस के दौरान समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता ने कहा कि जिसने पहली बार ‘हिन्दू आतंकवाद’ का जिक्र किया था, भारतीय जनता पार्टी ने उस महानुभाव को सांसद और मंत्री बनाकर महिमामंडन किया।

आजतक के टीवी डिबेट में सपा प्रवक्ता राजीव राय ने कहा, “जो हिंदुस्तान में पहली बार ‘हिंदू आतंकवाद’ की बात करता है, आरएसएस के ‘आतंकियों’ की बात करता है, ये लोग उसे प्रमोट करते हैं। तो ऐसे लोग प्रमोशन की चाहत में आकर जहरीले बयान बोलते हैं।”

रफीक अंसारी को क्या सपा डिमोट करेगी उनके बयान पर? इस पर राजीव राय ने कहा कि पार्टी उनको समझाएगी, उनकी क्लास लेगी और वे अपना बयान दोहराते हैं तो पार्टी उनके खिलाफ कार्रवाई भी करेगी, इनकी तरह (भाजपा) प्रमोट नहीं करेगी। वहीं, सपा प्रवक्ता के आरोपों पर भाजपा के प्रवक्ता गौरव भाटिया ने पलटवार किया।


गौरव भाटिया ने कहा, “आपने कहा था कि टोपी में छेद है, कसूर उनका है जो राजनीति के लिए जालीदार टोपी पहनते हैं और उनकी नियत में छेद होता है।” कुछ दिनों पहले, मेरठ में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी व विधायक रफीक अंसारी ने विवादित बयान दिया था। रफीक अंसारी ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा था कि बीते पांच सालों में हर थाने पर ‘हिंदूगर्दी’ थी।


उन्होंने कहा था कि इस सरकार में हालात ठीक नहीं हैं। अगर भाजपा सत्ता में फिर आई तो मेरठ में गुंडों का राज होगा। सपा विधायक का यह वीडियो इंटरनेट पर वायरल होने लगा था, जिसके बाद मेरठ की नौचंदी थाना पुलिस ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों पर सात चरणों में मतदान होना है। पश्चिमी यूपी की 58 सीटों पर पहले चरण में 10 फरवरी को मतदान होगा। राज्य में आखिरी चरण में सात मार्च को मतदान होने हैं,जबकि मतों की गिनती 10 मार्च को होगी।