जानिए बूस्टर डोज में आप ले सकते हैं कौन-कौन सी वैक्सीन, क्या होगी इसकी कीमत…

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सरकार ने 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को बूस्टर डोज देने की अनुमति दे दी है. अब तक हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स सहित 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को बूस्टर डोज दी जा रही थी, लेकिन 10 अप्रैल यानी रविवार से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को भी कोरोना के वैक्सीन की तीसरी डोज लगाई जाएगी.

हालांकि बूस्टर डोज लगवाने के लिए कुछ दिशा-निर्देश भी हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि जिनकी आयु 18 वर्ष से अधिक है और उन्होंने दूसरी खुराक लेने के 9 महीने (39 हफ्ते) पूरे कर लिए हैं, वे निजी टीकाकरण केंद्रों पर बूस्टर डोज के लिए पात्र होंगे.

प्रतीकात्मक तस्वीर..

बूस्टर डोज के लिए वैक्सीन का मिक्स एंड मैच नहीं होगा. इसका मतलब है कि अगर आपको पहली और दूसरी डोज कोविशिल्ड की लगी है तो बूस्टर डोज भी आपको उसी की ही लगेगी. CoWIN इस खुराक के लिए पात्र सभी लोगों को मैसेज भेजेगा.

बूस्टर डोज के लिए कैसे रजिस्टर कराना होगा?

पात्र लाभार्थी https://selfregistration.cowin.gov.in/ पर लॉग इन कर सकते हैं या आरोग्य सेतु ऐप के माध्यम से अपना पंजीकरण करा सकते हैं. एक बार पंजीकरण/साइन इन पूरा हो जाने के बाद, CoWin होमपेज पर नई श्रेणी के तहत लाभार्थी के पहचान प्रमाण को अपडेट करना होगा. लाभार्थी को उनके आधार कार्ड या आईडी कार्ड का उपयोग करके पंजीकृत किया जा सकता है.

प्रतीकात्मक तस्वीर..

आधार के अलावा, स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा अनुमोदित अन्य आईडी हैं: ईपीआईसी, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, एनपीआर के तहत आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, फोटो के साथ पेंशन दस्तावेज. सभी टीकाकरण उसी दिन को-विन वैक्सीनेटर मॉड्यूल के माध्यम से रीयल-टाइम में दर्ज किए जाएंगे.

क्यों जरूरी है बूस्टर डोज?

बूस्टर डोज कोविड -19 के खिलाफ बेहतर सुरक्षा देता है. कोरोना से बचाव के लिए पहली और दूसरी डोज भी प्रभावी हैं, लेकिन समय के साथ वे कम प्रभावी हो सकती हैं, खासकर वरिष्ठ नागरिकों में.

समय-समय पर कोरोना वायरस के नए रूप सामने आ रहे हैं. ऐसे में बूस्टड डोज इससे बचाव में मदद कर सकता है. 2.4 करोड़ से अधिक बूस्टर डोज हेल्थकेयर, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 से अधिक आयु वाले लोगों को दी गई है.

कितनी होगी कीमत?

प्रतीकात्मक तस्वीर..

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने शुक्रवार को कहा कि कोविशील्ड की बूस्टर डोज की कीमत 600 रुपये से अधिक होगी और कोवोवैक्स (एक बार बूस्टर के रूप में स्वीकृत होने के बाद) 900 रुपये से अधिक कीमत पर उपलब्ध होगी.

पूनावाला ने यह भी कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट उन अस्पतालों और वितरकों को बड़ी छूट देगा जो बूस्टर डोज ऑफर करेंगे. वहीं, अगर कोई कोवैक्सीन लगवाता है तो उसे 1200 रुपये खर्च करने होंगे.