देश में पूर्ण लॉकडाउन को लेकर अब राहुल गाँधी का बड़ा बयान, सरकार को जल्द से जल्द…

देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है. कोरोना के बढ़ते सं’क्रमण को देखते हुए कई राज्यों में लॉ’कडाउन लगा दिया गया है. इसी बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूरे देश में पूर्ण लॉकडाउन लगाने की मांग की है.उन्होंने ट्वीट किया, “कोरोना के बढ़ते सं’क्रमण को रो’कने के लिए अब सिर्फ एक ही रास्ता बचा है और वह है पूर्ण लॉकडाउन. राहुल गांधी का ट्वीट ऐसे समय आया है जब देश में कोरोना सं’क्रमितों की कुल संख्या 2 करोड़ के पार पहुंच गई है.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “इस समय कोरोना से नि’पटने के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगाना ही एकमात्र उपाय है और सरकार को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है.”उन्होंने आगे लिखा, “समाज के कुछ तबकों को न्याय योजना का लाभ देकर पूर्ण लॉ’कडाउन लगाया जाए ताकि लोगों की जिं’दगियां समय रहते बचाई जा सके.” राहुल गांधी इससे पहले भी कोरोना वायरस सं’क्रमण को फैलने से रो’कने के लिए केंद्र सरकार को अपने सु’झाव देते आए हैं.

बता दें कि राहुल गांधी ने एक बार कहा था कि लॉ’कडाउन सिर्फ कोरोना सं’क्रमण को कुछ समय के लिए रोकने में मदद करता है, उसे पूरी तरह ख’त्म नहीं करता. हालांकि, इसबार उन्होंने खुद आगे बढ़कर पूर्ण लॉ’कडाउन लगाने की अपील की है.

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मा’मले

बता दें कि भारत में कोरोना के दैनिक मा’मलों में तेजी से इजाफा हो रहा है. बीते 24 घंटे में देश में 357,229 नए कोरोना केस आए और 3449 संक्र’मितों की जान चली गई है. हालांकि 3,20,289 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं. इससे पहले रविवार को देश में 368,060 नए केस आए थे. दुनियाभर के करीब 40 फीसदी केस हर दिन भारत में ही दर्ज किए जा रहे हैं.  वहीं, दिल्ली, महाराष्ट्र, हरियाणा, कर्नाटक समेत कई राज्यों में लॉकडाउन लगाया गया है ताकि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोका जा सके.

उन्होंने आज केंद्र सरकार से सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर ध्यान देने की बजाय टीकाकरण, ऑक्सीजन की कमी और आर्थिक सहायता देने की मांग की.राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ”13450 करोड़ रुपये सेंट्रल विस्टा के लिए. या 45 करोड़ भारतीयों का पूरी तरह से टीकाकरण.  या एक करोड़ ऑक्सीजन सिलेंडर्स या दो करोड़ परिवारों को NYAY के तहत 6000 हज़ार रुपये. लेकिन प्रधानमंत्री का अहंकार लोगों की ज़िंदगियों से बड़ा है.”


उन्होंने यह भी कहा, ‘‘मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि सरकार के पास रणनीति का पूर्ण अभाव है इसलिए लॉ’कडाउन एकमात्र विकल्प बचा है.”