पेगासस जासूसी में NDA सहयोगी का मिला कांग्रेस को साथ, CM नितीश कुमार ने कह डाली ये बात

पे’गासस जासूसी मा’मले को लेकर केंद्र की राजनीति में बवा’ल मचा हुआ है. सरकार पर फोन टैपिंग का आ’रोप लगाकर विपक्ष के नेता हंगामा कर रहे हैं. साथ ही पूरे मा’मले की जांच की मांग भी कर रहे हैं. संसद में पेगासस जासूसी मा’मले को लेकर खूब हंगामा हुआ है. विपक्ष की मांग है कि पार्लियामेंट्री कमेटी गठित की जाए जो इस मा’मले की जांच करे. विपक्ष के इस मांग का बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समर्थन किया है.

जरूर होनी चाहिए जांच

एनडीए के सहयोगी नीतीश कुमार ने पेगासस जासूसी मा’मले की जांच की मांग की है. जनता दरबार ख’त्म होने के बाद मीडिया से मुखातिब हुए सीएम नीतीश ने कहा कि टेलीफोन टैपिंग की बात कई दिनों से सामने आ रही है. इसकी जरूर जांच हो जानी चाहिए. ये बात मैं पहले भी बोल चुका हूं.

आज कल कौन क्या कर लेगा कहना कहना मु’श्किल है. इसलिए मेरे हिसाब से इस मा’मले में एक-एक चीजों को देख कर , उचित कदम उठाना चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा, ” क्या हुआ है और क्या नहीं इस पर पार्लियामेंट में लोग बातचीत कर रहे हैं. समाचार पत्रों में जो आ रहा है, उसी को हमलोग देखते हैं. लेकिन इस मा’मले की पूरी तरह से जांच होनी चहिए कि कौन किसके फोन को पूरी तरह से सुन रहे हैं. ताकि जो भी सच्चाई हो वो सामने आ जाए. कभी भी किसी को डिस्टर्ब करने के लिए कोई इस तरह का काम करता है, तो ये नहीं होना चाहिए.”

केंद्र सरकार सामने रखे पूरी बात

नीतीश कुमार ने कहा, ” ये पूरा मा’मला क्या है इस बात की हमें पूरे तौर पर जानकारी नहीं है. जो बात सामने आ रही है, वो ही हमलोग पढ़ और देख रहे हैं. लेकिन मेरे हिसाब से अगर ऐसा हुआ है तो गलत है. केंद्र सरकार अगर नकार रही है, तो उसे पूरे मा’मले को सामने रखना चाहिए.”

बता दें कि पेगासस जासूसी मा’मले के सामने आने के बाद जब पत्रकारों ने सीएम नीतीश कुमार से सवाल किया था तो उन्होंने इसे बेकार की बातें बताते हुए कहा था कि किसी को डि’स्टर्ब करना अच्छी बात नहीं है. सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि ये गलत है. यह सब गं’दी बात है, सब फालतू चीज है, किसी को डिस्टर्ब करना अच्छी बात नहीं है.