अभी-अभी: मुलायम सिहं यादव की ‘बेटी’ की सरेआम की गई हत्या, शौक में डूबा सपा परिवार

अभी हाल ही में पूर्व ब्लॉक प्रमुख व महिला आयोग की सदस्य 50 वर्षीय बासमती कोल की हत्या की खबर सामने आई हैं. कहा जाता है कि नौगढ़ थाना क्षेत्र के तेंदुआ जंगल में सुबंह 4.30 के दौरान उनका शव बरामद किया गया है. जहा उनके शरीर पर कुछ चोट के निशान सामने हैं. कहा जाता है पूर्व ब्लॉक प्रमुख बासमती कोल संपा संरक्षक व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री की मुंहबोली बेटी हैं. इनके शव को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि इनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई हैं.

जानें पूरा मामला

खबर के मुताबिक आपसी विवाद के चलते लोगों ने इनकी हत्या करके खुदश निकाली हैं. इस घटना की सुचना मिलते ही पुलिस ने शल को बरामद कर लिया है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. एसपी संतोष कुमार सिंह के मुताबिक एसपी संतोष कुमार सिंह कहना है कि इनके शव को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि किसी ने इनके सिर को कूचकर हत्या की है. वहीं डॉक्टर के अनुसार इनके शरीर पर चोट लगे 15- से 18 घंटे हो चुके हैं. पुलिस ने छानबिन कर एक आरोपी को अपने कब्जे मे भी ले लिया है.

मुलायम सिंह यादव की मुंहबोली बेटी

बता दें कि पूर्व ब्लॉक प्रमुख व महिला आयोग की सदस्य बासमती कोल हार्डकोर नक्सली देवव्रत कोल की सगी बहन बताई जाती है. वहीं सपा सरकार की तरफ से बासमती को महिला आयोग का सदस्य भी चुना गाया है. जिसके कारण मुलायम सिंह यादव नें इन्हें अपनी दस्तक पुत्री भी माना है. कहा जाता है कि मुलायम ने इनको गोद भी ले रखा था. इनके गोद लेने का सबसे बड़ा कारण था कि नक्सलवाद को कम करने के लिए इन्होंने चुनावी सभा में ही इनको अपनी पुत्री के रुप में स्वीकार कर लिया था. जिसके बाद यह अखिलेश सरकार की तरफ से महिला आयोग की सदस्य भी चुनी गई थी.

खबर के अनुासार कहा जाता है कि बासमती कौल गढ के जंगल के बारे में सब कुछ जानती थी , उन्हें जंगल का चप्पे-चप्पे के बारे में पता था और जब इन्होंने राजनीति में कदम रखा तो नौगढ़ इलाके में नक्सली गतिविधियों काफी हद तक कं हो गई थी.