यूपी: सिर्फ 3 दिन के अंदर बीजेपी को लगा आठवां झट’का, अब इस दिग्गज नेता ने भी दिया इस्तीफा

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी को एक और झटका लगा है। औरैया के बिधूना से भाजपा विधायक विनय शाक्य ने गुरुवार को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य उनके नेता हैं और वे उनके साथ ही हैं।

इसके पहले, शिकोहाबाद से भाजपा विधायक मुकेश वर्मा ने इ’स्तीफा दे दिया। पिछले 72 घंटों में भाजपा को शाक्य के इस्तीफे के रूप में 8वां झटका लगा है।

अपने इस्तीफे में विनय शाक्य ने कहा, ”स्वामी प्रसाद मौर्य, शो’षित और पी’ड़ितों की आवाज हैं, मैं उनके साथ हूं।” बीते दिनों, विनय शाक्य की बेटी रिया ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि उनके पिता का चाचा ने अ’पहर’ण कर लिया है।

इसके बाद विनय शाक्य का बयान आया था और उन्होंने अ’पहर’ण की खबर को गल’त बताया था। साथ ही कहा था कि वे स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ समाजवादी पार्टी में जाएंगे।

विधायक की बेटी के आ’रो’पों पर औरैया के पुलिस अधीक्षक का भी बयान आया था। एसपी ने कहा कि विधायक विनय शाक्य बिधूना, शान्ति कालोनी जनपद इटावा में सकुशल अपनी मां के साथ मौजूद हैं. अ’पहर’ण का आ’रोप झू’ठा और निरा’धार है।

यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी सत्ताधारी भाजपा को एक के बाद एक झटके लग रहे हैं। योगी कैबिनेट में मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद एक और मंत्री दारा सिंह चौहान भी इस्तीफा दे चुके हैं।

वहीं, गुरुवार को आए दो विधायकों के इस्तीफे के पहले, 6 अन्य विधायक भी अपना इस्तीफा दे चुके हैं। इस्तीफा देने वाले सभी विधायकों ने स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ जाने की बात कही है। वहीं, मौर्य ने कहा है कि 14 जनवरी को लखनऊ में ऐतिहासिक फैसला लेंगे और उनकी नई राजनीतिक पारी की शुरुआत होगी।

इस्तीफा देने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य भाजपा पर हमलावर हैं। उन्होंने गुरुवार को ट्वीट कर आरएसएस को ना’ग और भाजपा को सां’प बताया। मौर्य ने कहा, ”ना’ग रूपी आरएसएस एवं सां’प रूपी भाजपा को स्वामी रूपी ने’वला यू.पी. से खत्म करके ही दम लेगा।”